गूगल सर्च कैसे काम करता हैं – पूरी जानकारी

आज के 21 शताब्दी में अगर हमें किसी भी सवाल का जबाब चाहिए तो हम google search करते हैं और गूगल हमें लगभग सभी सवालो के जबाब को देता हैं। गूगल अभी के समय में दुनिआ का सबसे बड़ा सर्च इंजिन हैं। आज के समय में लगभग है कोई जिसके पास मोबाइल फ़ोन है और गूगल का इस्तेमाल करता हैं। गूगल आज के समय में एक ऐसा साधन बन चूका है जो हमारे सभी सवालो का जबाब पल भर में दे सकता है। ऐसे में क्या आपने कभी सोचा है की गूगल हमें सर्च रिजल्ट कैसे दिखता है Google Search Kaise Kaam karata Hai या गूगल सर्च कैसे काम करता हैं। 

कोई गूगल का इस्तेमाल पढ़ाई करने के लिए करता हैं कोई गूगल का इस्तेमाल सवालो का जबाब पाने के लिए करता हैं। कोई गूगल का इस्तेमाल रीसर्च करने के लिए करता हैं। और लगभग गूगल सभी सवालो का जबाब देता हैं।  तो ऐसे में सवाल आता हैं की आखिर गूगल कैसे इतने सारे सवालो का जबाब हमें देता हैं और गूगल कैसे वर्क करता हैं।  How Google Search Work In Hindi .

गूगल सर्च कैसे काम करता हैं। गूगल कैसे काम करता है। google kaise kaam karata hai , google in hindi , google search in hindi , google kaise kaam karata hai

आज के समय में गूगल एक तरह का बॉस का रूप ले चूका है और बहुत लोगो की जिन्दगिया गूगल पर निर्भर करता है। इंटरनेट की दुनिया में आज गूगल एक बहुत बड़ी कंपनी है और एक बहुत ही बड़ा सर्च इंजन है। तो चलिए हम जानते है की गूगल हमारे सवालो का जबाब कैसे देता है गूगल का सर्च इंजन कैसे काम करता हैं।  

गूगल क्या हैं ?

गूगल एक अमरीकन कंपनी हैं जो की एक सर्च इंजन हैं। गूगल एक ऐसा सर्च इंजन है जो सभी एंड्राइड मोबाइल में उपलभ्ध होता हैं इसके साथ गूगल दुनिआ का सबसे बड़ा सर्च इंजन भी हैं।अभी के समय में गूगल सर्च इंजन के क्षेत्र में 96 % अधिकार रखता हैं। गूगल सितम्बर 1997  को बनाया गया था। और 1 साल बाद 15 सितम्बर 1998 को कंपनी के रूप में बनाया गया था।

 उसके बाद गूगल ने यूट्यूब को खरीद लिया। और उसके गूगल ने यूट्यूब को इस तरीके  डेवेलोप किया जिससे आज यूट्यूब दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा सर्च इंजन बन गया था। गूगल एक सर्च इंजन के रूप में  प्रशिद्ध हैं। 

गूगल सर्च कैसे काम करता हैं ? 

अब आप जान चुके हैं की गूगल क्या है तो चलिए अब हम जानते है की आखिर गूगल सर्च  कैसे करता हैं और गूगल के अंदर ऐसा क्या होता हैं जिससे गूगल हमें सभी सवालो का जबाब देता हैं। गूगल ने अपना एक सिस्टम है जिसे गूगल अलगोरिथ्म्स है जिसकी मदद से गूगल अलग अलग वेब पेज को उनका रैंकिंग करके सर्च इंजन में दिखता है।  

Google किसी भी पेज को सर्च कौंसल से सर्च रिजल्ट में दिखाने तक का प्रोसेस 3 स्टेज में करता हैं। जिसमे गूगल वेबमास्टरस द्वारा लिखा गया कंटेंट को गूगल सर्च कौंसल से गूगल सर्च रेसल्ट में दिखता हैं। तो चलिए अब हम जानते है की गूगल सर्च कैसे काम करता हैं। 

 1. Crawling 

इस प्रोसेस में गूगल अलग अलग वेबसाइट के सर्च कौंसल में अनुरोधित सभी वेबपेज को अपने प्रोग्राम जिसे हम गूगलेबोट या क्रॉलर कहते हैं के द्वारा क्रॉल करवाता हैं। या वेबसाइट के साइटमैप के जरिये वेबपेजेस को क्रॉल करके अपने डाटा बेस में रखता हैं। आप गूगल सर्च कौंसल की मदद से अपने वेबसाइट को क्रॉल करवा सकते हैं। 

गूगल जब भी किसी पेज को क्रॉल करता हैं तब उस पेज  पूरी तरह से रेंडर करता हैं जिसमे वो पूरी कंटेंट जिसमे टेक्स्ट इमेज वीडियो इंफॉरग्रॅफिक इत्यादि होते है उन सभी को क्रॉल करता है और डिसाइड करता है की किस पेज को सर्च रिजल्ट में कैसे दिखता हैं। 

गूगल का क्रॉल बोट पूरी तरह से स्वतंत्र होता है की उसे किस वेबसाइट को कितना और कितने देर बाद क्रॉल करना हैं। आप गूगल को Robots.txt की मदद से यह बता सकते हो की आपको अपने वेबसाइट के कौन से पेज को क्रॉल करवाना हैं और कौन से पेज को नहीं। इससे वो पेज जिसको अपने रोबोट फाइल में disallow करके रखा हैं वो पोस्ट इंडेक्स नहीं होगा। 

2. Indexing

जब गूगल बोट पेजेज को क्रॉल करके अपने डेटाबेस में डाउनलोड कर लेता है तब अब बारी आती हैं इंडेक्सिंग की। क्रॉल करने के बाद गूगल वेबपेजेस को समझने की कोसिस करता है जिसे हम इंडेक्सिंग कहते है। गूगल वेबपेजेस में मौजूद सभी कंटेंट जैसे टेक्स्ट , इमेज , वीडियो और इन्फोग्राफिक को समझता हैं। 

आपकी वेबसाइट जीतनी एक्टिव होगी गूगल उतनी ही जल्दी आपकी वेबसाइट को क्रॉल और इंडेक्स करेगा। गूगल सर्च कौंसल में आप अपने वेबसाइट के नए पेज को इंडेक्स करने के लिए रिक्वेस्ट कर सकते है। 

3. Ranking 

और जब कोई यूजर गूगल पर कोई कीवर्ड सर्च करता है तो गूगल उस कीवर्ड को  इंडेक्स पेजेज में चेक करता है। और जिस भी पेज में ये कीवर्ड्स सबसे ज्यादा बार मिलता है उसे सबसे ऊपर दिखाता  हैं। 

 क्रॉल और इंडेक्स होने के बाद गूगल उन सभी पेज को रैंकिंग देता हैं। गूगल अपने सर्च अलगोरिथम के हिसाब से सभी वेबसाइट या ब्लोग्स को रैंकिंग देता हैं। गूगल करीब 200 से भी ज्यादा फैक्टर्स के आधार पर गूगल में रैंकिंग देता हैं।

अगर आपके वेबसाइट में अच्छा कटेंट होगा और अच्छी बैकलिंक्स होगी तो आपके वेबसाइट के रैंक होने के चान्सेस हैं। गूगल की इसी प्रक्रिया को रैंकिंग कहते हैं। गूगल अपने डाटा बेस में इन सभी इंडेक्स पेज को रैंकिंग देकर रखता हैं।

गूगल कैसे काम करता है इस बारे में जानने के लिए आप इस वीडियो को भी देख सकते हैं।

गूगल सर्च कैसे काम करता हैं – पूरी जानकारी

गूगल सर्च अलगोरिथ्म्स में गूगल रोज कुछ न कुछ बदलाव करते रहता हैं। जिससे गूगल का सर्च रेसल्ट भी बदलता रहता हैं। लेकिन गूगल सर्च में यह 3 स्टेप्स क्रॉलिंग , इंडेक्सिंग और रैंकिंग हमेसा बना रहता हैं। 

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है आपको अब यह समझ चुके है की आप गूगल सर्च कैसे काम करता हैं। अगर आपको गूगल सर्च कैसे काम करता है के बारे में कोई भी सवाल है तो आप कमेंट कर सकते हैं। अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो आप इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते है। 

Leave a Comment