गूगल सैंडबॉक्स क्या हैं – पूरी जानकारी

गूगल सैंडबॉक्स क्या हैं। गूगल sandbox कैसे काम करता है। और क्या गूगल सैंडबॉक्स नै वेबसाइट को प्रभावित करता है और करता है तो कैसे। आज हम इस पोस्ट में इसी बारे  करने वाले है। तो अगर आप एक नए ब्लॉगर है और google sandbox ke baare में नहीं जानते है तो आप इस पोस्ट को लगातार पढ़ते रहिये।

जब आप एक वेबसाइट बनाते है तो आप उस वेबसाइट को गूगल search councle में सब्मिट करते है। ताकि गूगल उस वेबसाइट को रैंक करा सके और उससे आपके वेबसाइट पर ट्रैफिक आये। लेकिन आज के समय में गूगल एक बहुत ही स्मार्ट सर्च इंजन है वह यूजर को search intent को पूरा करने पर फोकस करता है इसी लिए गूगल हमेसा अपने search algorithms में बदलाव करते रहता है  ताकि यूजर को उसका सर्च result आसानी से मिल सके। google sandbox भी इसी algorithms भी इसी का एक हिस्सा है। जिससे गूगल यूजर के search intent को पूरा करने की कोसिस करता है।

गूगल सैंडबॉक्स क्या हैं ?

गूगल सैंडबॉक्स  एक theory है जिसमे google किसी भी  नई वेबसाइट को रैंक करने से पहले गूगल sandbox में डाला जाता है और यह पता करने की कोसिस करता है  आपका वेबसाइट google नजरो में legit सिद्ध होता है या नहीं। अगर वेबसाइट google की नजरो में legit सिद्ध कर देती है तो वह वेबसाइट google में रैंक करने लगाती है। इस समय अंतराल में google वेबसाइट के साथ ट्रस्ट build करने की कोसिस करता है।

google sandbox definition google sandbox, google sandbox kya hai , google sandbox ke baare me , google sandbox in hindi , google , google image with black background

sandbox एक फ़िल्टर की तरह होता है जिससे गूगल नई वेबसाइट को रैंक नहीं करता है। अगर आपका वेबसाइट काम कम्पटीशन वाले keywords पर भी नहीं रैंक करता है तो इसका मतलब आपकी वेबसाइट अभी sandbox में है। आपको इससे घबराने की जरुरत नहीं है। google आपकी साइट को sandbox में इसलिए डालता है क्योकि वह उस वेबसाइट के साथ रिलेशन build करना चाहते है और जब वह रिलेशन और trust बिल्ड हो जाता है तब आपकी वेबसाइट google sandbox से बाहर आ जाती है।

आपका ब्लॉग गूगल सैंडबॉक्स में हैं कैसे पता करें ?

जब आप कोई नया ब्लॉग बनाते है तब वह गूगल में रैंक नहीं करता हैं क्योकि गूगल की एक पालिसी है जिसमे गूगल नई वेबसाइट या ब्लॉग को गूगल में रैंक नहीं करता है लेकिन जब वो ब्लॉग धीरे धीरे पुराना होने लगता है तब वह गूगल में रैंक करने लगता हैं लेकिन क्या आप यह जानते है की आप किस तरह से यह पता करसकते है की आपका ब्लॉग गूगल सैंडबॉक्स में है या नहीं हैं ?

1 . आपका ब्लॉग जल्दी रैंक नहीं करता हैं :- अगर आपका ब्लॉग नया बना हुआ है और जल्दी रैंक नहीं कर रहा है तो यह हो सकता है की आपका ब्लॉग गूगल के सैंडबॉक्स अल्गोरिथम में है। जब आपका वेबसाइट थोड़ा पुराण हो जाता है तब आपका ब्लॉग रैंक करना सुरु कर देगा। 

2 . आपका ब्लॉग SERP में नहीं दिखता हैं :- जब आपका ब्लॉग में अच्छी क्वालिटी के आर्टिकल होते है लेकिन फिर भी आपका ब्लॉग गूगल के सर्च इंजन रिजल्ट पेज पर कही  दिखता है तो इसका मतलब है की आपका ब्लॉग गूगल सैंडबॉक्स के अंदर है और और आपको लगातार अपने ब्लॉग पर क्वालिटी पोस्ट करते रहना चाहिए। 

ब्लॉग को Google sandbox से बाहर कैसे निकाले ?

Google sandbox से बाहर निकलना हमारे या आपके हाथ में नहीं है। google sandbox एक फ़िल्टर होता है। जिससे आपका वेबसाइट गूगल में रैंक नहीं करता है। यह अवधी 4 -5 महीने से लेकर 8 – 9 महीनो तक की भी हो सकती है। तो आप अगर एक नए ब्लॉगर है और बहुत मेहनत करने के बाद भी अगर आपकी वेबसाइट गूगल में रैंक नहीं कराती है तो आप हार मानकर ब्लॉग्गिंग को quit न करे बल्कि आप मेहनत करते रहे और आपका वेबसाइट जब गूगल sandbox से बाहर आ जायेगा तो वह गूगल में रैंक करना शुरू कर देगा। और आपके वेबसाइट पर ट्रैफिक आना शुरू हो जायेगा।

1 . जब आपकी वेबसाइट गूगल sandbox में हो तब आप उस अवधी के दौरान अपने वेबसाइट पर High quality content provide करे। दोस्तों आप सब ने अपने ब्लॉग्गिंग लाइफ में एक डायलॉग तो सुना ही होगा ” Content is King ” और यह डायलॉग बहुत हद तक सही भी है। अगर आप अपने वेबसाइट में High quality content प्रोवाइड कराते है तब आपको गूगल में और यूजर में ब्रांड वेलु बढ़ता है। जिससे गूगल आपके वेबसाइट पर ज्यादा ट्रस्ट करता है। और आपके वेबसाइट को गूगल सर्च इंजन में हाई रैंकिंग देता है  गूगल से ट्रैफिक पा सकते है।

 2 . जब आपकी वेबसाइट गूगल सैंडबॉक्स में हो उस दौरान आप अपने वेबसाइट के लिए high quality backlinks  बनाये।  यह बात तो हम सब जानते है की बैकलिंक्स seo search engine optimaization का backbone कहा जाता है। तो अगर आप अपने वेबसाइट के लिए High authority backlinks बनाने पर जोर देना चाहिए। ताकि आपकी वेबसाइट गूगल में  रैंक कर सके।

3 .कम कपडिशन वाले कीवर्ड पर पोस्ट लिखे :- अगर आप अपने वेबसाइट को गूगल सैंडबॉक्स से जल्द बहार निकलने चाहते है तो शुरुआती समय में आपको अपने ब्लॉग में लौ कपड़ीसन कीवर्ड को टारगेट करना चाहिए ताकि आपकी वेबसाइट जल्द ही रैंक करनी लगे। जब आप कम काम्पडीशन वाले कीवर्ड पर लेख पब्लिश करते है तब आपका ब्लॉग जल्दी रैंक करने लग जाता हैं। 

ब्लॉग में नियमित बदलाव करें :- अगर आप अपने वेबसाइट को 3 महीने में अपने ब्लॉग को रैंक करना चाहते है तो आपको अपने ब्लॉग को रोज अपडेट करना चाहिए। ताकि वो जल्द ही रैंक होने लगे। जब आपके ब्लॉग पर रोजाना नया कंटेंट पब्लिश होगा गूगल आपके वेबसाइट को नियमित रूप से चेक करेगा और उसे रैंक करेगा। 

गूगल सैंडबॉक्स क्या हैं पर निष्कर्ष। 

तो अब आपको यह पढ़ कर पता चल ही चूका होगा की गूगल सैंडबॉक्स क्या हैं और google sandbox कैसे काम करता है। यह आपकी वेबसाइट को कैसे इफ़ेक्ट करता है और आप कैसे इस effect से बहार आ सकते है। तो उम्मीद है आपको यह पोस्ट हेल्पफुल लगा होगा। इस पोस्ट को पढ़ कर आपको गूगल सैंडबॉक्स और इससे जुड़े इफ़ेक्ट के बारे में पता चल चूका होगा। आपको यह पोस्ट केसा लगा हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताये और अगर आपको google sandbox kya hai से जुड़ा कोई भी सवाल है तो आप comment box में पूछ सकते है।

Leave a Comment