बिंग क्या है और बिंग को किसने बनाया हैं ?

bing kya hai in hindi bing app kya bing kya hai in hindi

जिस प्रकार से दुनिआ में डिजिटल युग की शुरुआत हो रही है उसी प्रकार से बहुत साड़ी कम्पनिया खुद को ऑनलाइन लाने का काम कर रही है। और कंपनियों को ऑनलाइन लाने में सर्च इंजन बहुत ही बड़ा इम्पोर्टेन्ट रोले प्ले करते है। ऐसे में अभी के समय में बहुत सारे सर्च इंजन है जो ऑनलाइन बिज़नेस को आगे बढ़ाने का काम करते है ऐसे में एक सर्च इंजन का नाम आता है जिसका नाम है बिंग सर्च इंजन। तो आज के इस पोस्ट में हम bing kya hai में बात करने वाले है तो अगर आप बिंग सर्च इंजन के बारे में नहीं जानते है तो यह पोस्ट आपके लिए ही है आप इस पोस्ट बिंग क्या है को लगातार पढ़ते रहिये।

बिंग दुनिया का दूसरे सबसे बड़ा सर्च इंजन है यह गूगल के बाद दुनिआ का सबसे बड़ा सर्च इंजन है। बिंग गूगल को टक्कर देने के लिए हमेसा से नए नए अपडेट और ऑफर लाते रहता है। बिंग हमेसा से अपने सर्च इंजन में नए नए बदलाव लाते रहा है ताकि वो गूगल को रेप्लस कर पाए लेकिन अभी भी गूगल नंबर 1 पर बना हुआ है। ऐसे में चलिए हम इस पोस्ट में जानते है की बिंग सर्च इंजन क्या है और यह कैसे बना।

माइक्रोसॉफ्ट क्या हैं ?

माइक्रोसॉफ्ट एक अमेरिकन कंपनी है जो की इंटरनेट से जुडी अलग अलग सॉफ्टवेयर को बनती है और बेचती है। माइक्रोसॉफ्ट का निर्माण बिल गेट्स ने 1975 में किया था। इस कंपनी का मुख्यालय वाशिंगटन में है। अभी के समय में माइक्रोसॉफ्ट के पास कई तरह के ऑपरेटिंग सिस्टम , सॉफ्टवेयर , ब्राउज़र और एक सर्च इंजन का मालिकाना हक़ है। 

माइक्रोसॉफ्ट के प्रोडक्ट्स – 

विंडोज :- विंडोज एक ऑपरेटिंग सिस्टम है जो की कंप्यूटर में इस्तेमाल किया जाता है। इस को माइक्रोसॉफ्ट के द्वारा बनाया गया है। और विंडोज का मालिकाना हक़ भी विंडोज के पास ही है। विंडोज को बेचना अपडेट करना और विंडोज के कॉपीराइट भी माइक्रोसॉफ्ट के पास ही है। 

बिंग :- बिंग गूगल की तरह ही एक सर्च इंजन है। जिसका काम यूजर द्वारा सर्च किये गए सवालो का जबाब देना है। बिंग गूगल की तरह एडवांस तो नहीं है लेकिन बिंग अभी भी मार्किट में 3 सबसे बड़ा सर्च इंजन है।  चलिए अब मै आपको बिंग के बारे में विस्तार से बताता हूँ। 

बिंग क्या है ?

bing kya hai in hindi bing app kya bing kya hai in hindi

बिंग एक सर्च इंजन है जो की माइक्रोसॉफ्ट का एक प्रोडक्ट है। बिंग दुनिआ का दूसरा सबसे बड़ा सर्च इंजन है। यह सर्च इंजन माइक्रोसॉफ्ट के द्वारा बनाया गया है। जो ज्यादातर पश्चिमी देशो में लोकप्रिय है। बिंग सर्च इंजन में बहुत साड़ी ऐसी विशेषताए है जिसकी मदद से आप बहुत ही आसानी से अपने सर्च किये हुए सवालो का जबाब आर्टिकल , इमेज , वीडियो , मैप्स , शॉप , न्यूज़ इत्यादि सेक्शन में जान सकते है।

बिंग सर्च इंजन कैसे बना ?

बिंग माइक्रोसॉफ्ट का एक प्रोडक्ट है जिसे 2009 में लांच किया गया था। बिंग सर्च इंजन को लाइव सर्च और MSN सर्च इंजन को रेप्लस करने के लिए लांच किया गया। इसे माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ स्टीव वॉल्मर द्वारा 28 जुलाई 2009 को लांच किया गया। माइक्रोसॉफ्ट ने इस सर्च इंजन को बनाने के लिए  Powerset को खरीद लिया जो उस वक्त आर्गेनिक सर्च इंजन बहुत अच्छा काम कर रही थी।

बिंग सर्च इंजन के फीचर्स :-

अगर आप बिंग सर्च इंजन का इस्तेमाल करते है तो आपको इसके बहुत सारे फायदे मिल सकते हैचलिए अब हम बात करते है की अगर आप बिंग के अलग अलग फीचर्स के बारे में ।

इंटरफ़ेस :-

बिंग सर्च इंजन का इंटरफ़ेस बहुत ही कमाल का है यह हर रोज बदलते रहता है आप इसे कस्टमाइज़ भी कर सकते है इसमे हर रोज आपको नए नए इमेज देखने को मिलते है।

इंस्टेंट आंसर :-

बिंग सर्च इंजन अब पहले से ज्यादा एडवांस हो चूका है बिंग कई सारे सवालो का इंस्टेंट आंसर दे सकता है। बिंग कुछ टॉपिक्स जैसे स्वास्थ्य सम्बन्धी , फ्लाइट टिकट बुकिंग , मौसम इत्यादि के बारे में सर्च करने पर इंस्टेंट आंसर प्रोवाइड करता है।

लोकल इनफार्मेशन :-

बिंग किसी भी लोकल सर्च को बहुत ही आसानी से शो करता है यानि  आप अपने आस पास किसी लोकेशन या शॉप के बारे में सर्च करते है तो बिंग बहुत ही जल्द आपको लोकल सर्च के आधार पर रिजल्ट शो करता है।

बिंग के प्रोडक्ट्स :-

बीते कई सालो में बिंग  ने अपने कई सारे प्रोडक्ट्स को लांच किया है इनमे से कई सारे प्रोडक्ट्स सफल भी रहे है और कई सारे असफल भी हुए है तो चलिए अब हम कुछ बिंग प्रोडक्ट्स के बारे में जानते है।

बिंग एड्स :-

बिंग एड्स बिलकुल गूगल एड्स की तरह है आप बिंग एड्स का इस्तेमाल करके अपने बिज़नेस को बढ़ा सकते है। यह एक Pay Per Click ऐडवर्टाइज़मेंट कंपनी है। जिसमे आप PPC के बेस्ड पर एड्स चला सकते है।

Dictionary :-

बिंग Dictionary यूजर को किसी भी शब्द के अंग्रेजी में बताने में मदद करता है। उसके साथ ही यह Dictionary यूजर को सभी शब्दो के ऑडियो में सुना सकता है।

बिंग मैप्स :-

यह यूजर को गूगल मैप की तरह ही किसी भी जगह और शहर को मैप या सेटेलाइट व्यू , रोड मैप इत्यादि को बहुत ही आसानी से दिखा सकता है। इसके आल्वा आप बिंग मैप्स में  “बर्ड व्यू” फीचर्स का भी प्रयोग कर सकते है। 

बिंग न्यूज़ :-

बिंग आपको किसी भी बड़ी खबर जो आपके शहर और इलाके से सम्बंधित है उसे दिखती है। बिंग आपके खोज के आधार पर भी आपको न्यूज़ दिखता है। 

Bing Vs Google In Hindi

 मुझे उम्मीद है अब आप समझ चुके होंगे की बिंग क्या है चलिए अब हम बात करते है की बिंग और गूगल में कौन सबसे बेहतर है और क्या बिंग आने वाले समय में गूगल को पीछे कर पायेगा। अगर हम अभी की बात करे तो गूगल दुनिआ का सबसे बड़ा सर्च इंजन है और बिंग गूगल के दूर दूर तक नजर नहीं आता है इसका सबसे बड़ा कारण है गूगल की टेक्नोलॉजी। 

गूगल अभी सभी टेक्नोलॉजी में बिंग से कही ज्यादा आगे है और यही कारण है की बिंग के पीछे होने का अगर बिंग को आगे आना है तो उसे अपने AI , यूजर इंटरफ़ेस और टेक्नोलॉजी में बदलाव लाना होगा तभी बिंग गूगल को टक्कर दे पायेगा। लेकिन आने वाले समय में बिंग गूगल से आगे आ भी सकता है। गूगल आज काफी सफल हो चूका है और गूगल के कई सारे प्रोडक्ट्स जैसे यूट्यूब , जीमेल , एडसेंसे , गूगल प्ले स्टोर इत्यादि। वही बिंग के कई सारे प्रोडक्ट्स फ़ैल भी हुए है। 

बिंग सर्च इंजन के बारे में –

बिंग सर्च इंजन जो की माइक्रोसॉफ्ट द्वारा लांच किया गया सर्च इंजन है अभी यह सर्च इंजन गूगल की तरह पॉपुलर नहीं है लेकिन इस सर्च इंजन में काफी फीचर्स है जो बहुत ही अच्छा काम कर रहे है बिंग सर्च इंजन जो की पश्चिमी देशो में ज्यादा लोकप्रिय है यूजर के किसी भी सर्च का सटीक जबाब देता है। 

दोस्तों मुझे उम्मीद है आपको यह लेख बिंग क्या है और बिंग कैसे बना पसंद आया होगा। आपका इस लेख और बिंग के बारे में  सोचना है आप हमें कमेंट करके बता सकते है। उसके साथ ही अगर आपको यह पोस्ट bing kya hai in hindi हेल्पफुल लगा हो तो आप इस पोस्ट को अलग अलग सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते है। 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *